पार्षद मनीष गुप्ता ने कार्यकारी अधिकारी की कार्यप्रणाली पर लगाया प्रश्नचिन्ह



विपुल गुप्ता, सुजानपुर, न्यूज़ हिमाचल 24

नगर परिषद सुजानपुर के अंतर्गत आते वार्ड न 9 में डंगे का निर्माण कार्य न होने से लगभग 300 घरों पर खतरा मंडरा रहा है। आपको बता दें की पिछले साल हुई भारी से पहाड़ों का सारा मलबा रास्ते पे आ गया था परिणामस्वरूप रास्ता बंद हो गया था और बारिश का सारा पानी लोगों के घरों में घुस गया था।

जिससे लोगों को काफ़ी दिक्क़तों का सामना करना पड़ा था कुछेक को तो घरों से निकल कर जान बचानी पड़ी थी। नुकसान का जायजा लेने मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुखु सुजानपुर आए थे और तत्काल राहत कार्य के दिशा निर्देश दिए थे। लेकिन एक साल बीत जाने के बाद भी रास्ते के साथ होने वाले डंगे का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है ।

इस बारे जब वार्ड पार्षद मनीष गुप्ता जोकि कांग्रेस के जिला महासचिव भी हैं उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया डंगे के निर्माण का काम तीन महीने पहले शुरू हो जाना था लेकिन पता नहीं नगर परिषद इस काम को क्यों शुरू करवा रहा है।

मनीष गुप्ता ने कहा की अगर बरसात के मौसम से पहले डंगे का निर्माण कार्य संपन्न नहीं करवाया गया तो लोगों को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ सकता है और साथ ही वार्ड न 1 के मकानों पर भी इसका असर हो सकता है उन्होंने सख्त रवैये में कहा की अगर इस बार उनके वार्ड के लोगों को किसी प्रकार की दिक्कत आई तो इसकी पूरी जिम्मेबारी नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी संजय कुमार की होगी जो मुख्यमंत्री के आदेश के एक साल बाद भी इस डंगे का निर्माण करवाने में असमर्थ रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा की ये मुख्यमंत्री का गृह जिला है और यहाँ पर किसी की कार्यालय का कोई भी अधिकारी अगर अपने काम को निष्ठा से नहीं करता है तो मनीष गुप्ता खुद मुख्यमंत्री से मिलकर इस बारे बात करेंगे और सुजानपुर में विकास कार्यों में बाधा नहीं आने दी जाएगी साथ ही उन्होंने कहा है की अगर बरसात से पहले डंगे के निर्माण कार्य को संपन्न नहीं करवाया गया तो सम्बंधित अधिकारी को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा ।

Scroll to Top