खुंडियां के 18 वर्षीय युवक ने पानी के टैंक में गिरी महिला की बचाई जान


गांव वालों ने की जीवन रक्षा पदक की मांग



मिलाप कौशल/ खुंडियां





उपमंडल ज्वालामुखी के तहत तहसील खुंडियां की 60 वर्षीय सुदर्शना देवी पत्नी  कर्ण सिंह गत दिवस शाम अंधेरा होते अपने आंगन में बने पानी के टैंक से टुल्लू पंप से पौधों को पानी दे रही थी कि समय अचानक पैर फिसलने से वो 11 फुट गहरे टैंक में गिर गई ।

सुदर्शना देवी का पति उस समय बाथ रूम में नहा रहा था अचानक टुल्लू पंप बंद होने पर तुरंत बाहर आए तो पानी के टैंक से चीखें सुनाई दी चीखों को सुनकर सुदर्शना देवी का पति टैंक की तरफ़ भागा तो पाया कि उनकी पत्नी सुदर्शना देवी टैंक के अंदर गिरी पड़ी थी।

इनका बेटा ससुराल में था।बचाओ बचाओ की आवाजें सुन कर पड़ोसी भागते हुए आए। पड़ोस में रहने वाले 18  वर्षीय अमित कुमार सपुत्र कश्मीर सिंह ने अपनी जान की परवाह न करते हुए तुरंत सुदर्शना देवी को टैंक से बाहर निकाल कर उसकी जान बचाई।


  गांव वासियों व समाजसेवी रिटायर्ड कर्नल एम एस राणा, कैप्टन ध्यानसिंह,  सीपीओ सुभाष, सूबेदार अमर सिंह,अमरजीत, स्वर्णा देवी, वार्ड पंच पूजा आदि ने खुंडियां पंचायत प्रधान से इस वारे अवगत करवाया और अमित कुमार के अदम्य साहस के लिए उसे जीवन रक्षा पदक के लिए नामांकित करने की मांग की। शनिवार को पंचायत ने प्रस्ताव पास कर तहसीलदार खुंडियां को इसकी रिपोर्ट आगे भेजी। इलाके में हर कोई अमित के साहस की चर्चा कर रहा है।

Scroll to Top