महावीर आई टी आई कोपड़ा में मनाया विश्व जनसंख्या दिवस



मिलाप कौशल/खुंडियां

स्वास्थ्य खंड चिकित्सा अधिकारी ज्वालामुखी डॉ संजय बजाज  के सौजन्य से महावीर आईटीआई कोपड़ा के प्रिंसीपल समीर सिंह कंवर की अध्यक्षता में विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया।

इस दिवस पर खंड स्वास्थ्य शिक्षक ज्वालामुखी सुरेश चन्देल ने  कहा कि  बढ़ती हुई जनसंख्या किसी भी देश की उन्नति में सबसे बड़ी बाधा है। उन्होंने बच्चों को  बढ़ती हुई जनसंख्या के भावी दुष्परिणाम और छोटे परिवार के महत्व ,परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधनों के बारे में  विस्तार से बताया। चन्देल ने बताया कि विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की घोषणा 11 जुलाई 1989  में की गई थी क्योंकि 1987 में विश्व की जनसंख्या 5 अरब हो गई थी ।

बढ़ती हुई जनसंख्या संबंधी मामलों पर लोगों को जागरूक करने के लिए विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का निर्णय लिया गया।  इस दिन राष्ट्रीय स्तर पर कई क्रियाकलाप किए जाते हैं। ताकि जनता जागरूक हो सके और जनसंख्या पर  नियंत्रण पाया जा सके। विश्व में भारत जनसंख्या के हिसाब से चीन को पीछे छोड़कर पहले नंबर पर पहुंच गया है और  भारत की जनसंख्या जिस गति से बढ़ रही है ।

इससे  देश के विकास होने में हर क्षेत्र में बाधा आ रही हैं तथा दूसरे सामाजिक बुराइयों के साथ-साथ पर्यावरण को भी दूषित करने का प्रयास कर रही है जिससे गरीबी, स्वास्थ्य में गिरावट, शिक्षा के क्षेत्र में गिरावट, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार , भूखमरी, महिलाओं के स्वास्थ्य में गिरावट आ रही है ।

उन्होंने बताया कि विश्व में भारत ने सबसे पहले 1951 में राष्ट्रीय परिवार नियोजन कार्यक्रम शुरू किया था फिर भी हमारी जनसंख्या इस गति से बढ़ रही है कि हम विश्व के घनी आबादी वाले देशों में शामिल हो चुके हैं।

परिवार को सुनियोजित करने के लिए परिवार नियोजन के स्थाई और अस्थाई साधनों की हर स्वास्थ्य संस्थानों में मुफ्त सेवाएं उपलब्ध हैं। जैसे कि निरोध ,माला एन, कॉपर टी, आईयूसीडी, छाया टेबलेट, अंतरा इंजेक्शन, आपातकालीन पिल आदि सब परिवार नियोजन के अस्थाई साधन है तथा नलबंदी, नसबंदी परिवार नियोजन के स्थाई साधन है ।अतः पात्र दंपत्ति अपनी आवश्यकता व सुविधा के अनुसार अपनी नजदीकी स्वास्थ्य केंद्रों से यह सेवाएं ले सकते हैं।

  इस दिवस पर आईटीआई  के बच्चों की भाषण प्रतियोगिता और पेंटिंग प्रतियोगिता करवाई गई भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर पूजा , द्वितीय स्थान पर  नितिका और तृतीय स्थान पर पमिता  रही। और पेंटिंग प्रतियोगिता में प्रथम स्थान पर परमिंदर सिंह , द्वितीय स्थान पर गौरव , तृतीय स्थान पर शालू रही।स्वास्थ्य विभाग ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले सभी प्रतियोगियों को इनाम भी दिए गए।

इस कार्यक्रम में आईटीआई  के प्रिंसिपल समीर सिंह कंवर ने बच्चों को जनसंख्या वृद्धि की रोकथाम के लिए लोगों को जागरूक करने की सलाह दी। इस दिवस पर हंस फाउंडेशन की कोर्डिनेटर दीप शिखा के नेतृत्व में आई टीम ने आई टीआई के बच्चों के टेस्ट व दवाइयां मुफ्त दी गई। इस अवसर  पर हंसः फाउंडेशन की कॉर्डिनेटर दीप शिखा,आईटीआई के अध्यापक विजय, पंकज, विशाल, नीरज,सोनिया, मनीषा,रजनी,शैल्ज़ा रजनीश   ,  हंस फाउंडेशन की टीम , आशा कार्यकर्ता  और 150 बच्चे उपस्थित रहे।

Scroll to Top