प्राकृतिक आपदाओं से निपटने पर तीन दिवसीय प्रशिक्षण व जागरूकता कार्यशाला संपन्न



गोहर।मंडी।



किसी भी प्रकार की आपदा वह मानसून के दौरान होने वाली आपदाओं से निपटने के लिए 27 जून से 29 जून तक  टास्क फोर्स स्वयंसेवक (वॉलंटियर) कार्यशाला का आयोजन आज बीडीओ कार्यालय के सभागार में अग्निशमन विभाग व एसडीएम गोहर लक्ष्मण सिंह कनेट की अध्यक्षता में संपन्न हुआ ।


कार्यक्रम में एसडीएम गोहर ने चार पंचायत से आए हुए सभी वॉलिंटियर को मानसून के मद्देनजर प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए जिला आपदा प्रबंधन के इस प्रशिक्षण व जागरूक कार्यशाला में वालंटियर को प्राकृतिक आपदा में उनके बचाव व राहत कार्यों की विस्तृत जानकारी दी गई तथा उन्हें बताया गया कि वालंटियर ट्रेनिंग करवाने का उद्देश्य आपदा के दौरान आप सभी वालंटियर उसे स्थिति में किस तरह से कार्य करें व आपदा के दौरान प्रभावित लोगों को रेस्क्यू व घायलों का प्राथमिक उपचार करने में  बरती जाने वाली सावधानी के तहत इन जागरूकता व प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया जाता है ।

तथा मानसून के दौरान बरती जाने वाली अन्य सावधानियां जैसे स्वच्छ पानी ,घर के आसपास स्वच्छता बनाए रखने के लिए भी कहा गया क्योंकि किसी वॉलिंटियर का किसी दूसरे की मदद करने से पहले खुद स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है ।
तथा उन्हें बताया गया कि आपके गांव क्षेत्र में किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा की घटना होती है तो सब डिविजनल आपदा प्रबंधन व्हाट्सएप ग्रुप में इसकी सूचना दें तथा मानसून सीजन के दौरान आपदा से निपटने के लिए एसडीएम कार्यालय में स्थापित कंट्रोल रूम के नंबर 01907250262 पर भी संपर्क कर सकते हैं ।

कार्यक्रम में फायर सर्विस विभाग से लीडिंग फायरमैन पुरुषोत्तम राम ने उपस्थित सभी वालंटियर को अग्निशमन सेवा के विभिन्न विषयों पर विस्तार से चर्चा की व  कार्यों के प्रति उन्हें जागरूक किया ।


आग लगने के करणों पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि आग लगने के अनेकों कारण हो सकते हैं जैसे घरों में शॉर्ट सर्किट से आग लगना, खाना पकाने के दौरान, हिटिंग उपकरण से आग लगना, धूम्रपान सामग्री से, गैस सिलेंडर की गैस लीक होने से, व जंगलों में आग लगना जैसे प्रमुख करणों पर विस्तृत चर्चा की गई तथा आग से हुए नुकसान व रोकथाम और उस स्थिति में उठाए जाने वाले बचाव एवं राहत कार्यों पर जिससे घरों व इमारतों व अन्य आपातकालीन स्थितियों में फंसे हुए लोगों को बचाने के लिए राहत कार्यों से वालंटियर को जागरूक किया गया ।


कार्यशाला के दौरान अग्निशमन विभाग के द्वारा वालंटियर को राहत कार्यों के दौरान प्रयोग होने वाले उपकरणों की भी विस्तृत जानकारी दी गई तथा कार्यशाला के दौरान उन्हें लीकेज सिलेंडर से लीक गैस को बंद करवाना तथा आग बुझाने वाले यंत्रों को प्रयोग करने के विधि भी बताई गई !
तथा आज से संबंधित वह आग बुझाने के लिए अग्निशमन विभाग के नंबर 101 पर संपर्क कर सकते हैं
तथा इस तीन दिवसीय आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण व जागरूकता के दूसरे दिन वालंटियर को चिकित्सा विभाग व होमगार्ड विभाग के द्वारा आपदा के दौरान उनके विभाग से संबंधित कार्यों से अवगत करवाया गया  ।


चिकित्सा विभाग से डॉक्टर ने वालंटियर को आपदा के दौरान घायल हुए लोगों को प्राथमिक  चिकित्सा उपचार किस तरह से दिया जाता है उसे वालंटियर को अवगत करवाया गया तथा उसे दौरान उठाए जाने वाले चिकित्सा संबंधित विभिन्न जानकारियां से भी अवगत कराया गया
तथा होमगार्ड विभाग से अधिकारी ने वालंटियर को आपदा के दौरान प्रभावित हुए लोगों को रेस्क्यू करना व घायलों व मृत लोगों को उसे क्षेत्र से बाहर निकलना से संबंधित विभिन्न प्रकार की जानकारियों से वालंटियर को अवगत कराया गया ।
कार्यक्रम में कानूनगो कृष्ण ठाकुर, कानूनगो खूब राम, अग्नि शमन विभाग से फायरमैन चमन लाल, फायरमैन कमलचंद ,फायरमैन राजीव कुमार उपस्थित रहे ।

Scroll to Top