स्वास्थ्य विभाग ने मां ज्वाला नर्सिंग कॉलेज में प्रधानाचार्य दीपिका की अध्यक्षता में मनाया विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस









मिलाप कौशल/खुंडियां





उपमंडल ज्वालामुखी के तहत स्वास्थ्य खण्ड ज्वालामुखी के अंतर्गत आने वाले माँ ज्वाला नर्सिंग कॉलेज कुण्दलीहार में खंड चिकित्सा अधिकारी ज्वालामुखी डॉ संजय बजाज के आदेशानुसार  नर्सिंग कॉलेज की प्रधानाचार्या  दीपिका की अध्यक्षता में विश्व मासिकधर्म स्वच्छता दिवस मनाया गया । इस दिवस पर खंड स्वास्थ्य शिक्षक सुरेश चन्देल ने कॉलेज की किशोरियों को मासिक धर्म स्वच्छता के बारे में विस्तार पूर्वक बताया  कि  मासिक धर्म किशोरियों को किशोरावस्था में 10 से 19 वर्ष की आयु से शुरू होता है और यह हर किशोरी को हर महीने होता है और यह प्राकृतिक  प्रॉसेस है ।

जो होना जरूरी है उन्होंने कहा कि किशोरियों और महिलाओं को मासिक धर्म के समय स्वच्छता का विशेष ध्यान रखना चाहिए ताकि यौन रोगों से भी बचा जा सके। चन्देल ने बताया कि मासिक धर्म हर महीने आता है और इसका साइकल 24  से 38 दिन तक हो सकता है लेकिन ज़्यादातर महिलाओं का मासिक धर्म साइकल 28 दिन का होता है जो 4 से 8 दिन तक रह सकता है ।इसमें किसी प्रकार से घबराने की जरूरत नहीं होती है उन्होंने बताया कि जो मासिक धर्म के बारे में अभी भी लोगों की गलत भ्रांतियां है कि मासिक धर्म में महिलाएं खाना नहीं बना सकती, किसी को पानी नहीं दे सकती,  हमें उनके बारे में महिलाओं और किशोरियों को जागरूक करना चाहिए कि मासिकधर्म कोई पाप नहीं यह एक प्राकृतिक  प्रॉसेस है और हमें इन भ्रांतियों के बारे में महिलाओं किशोरियों और लोगों को जागरूक करना चाहिए।

चन्देल ने बताया कि राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के अन्तर्गत मासिकधर्म स्वच्छता कार्यक्रम शुरू किया है जिसमें आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से 10 से 19 वर्ष की किशोरियों को स्कूलों व घर मे सनैटरी पैड मात्र एक रुपये में उपलब्ध करवाए जाते है ताकि किशोरियां मासिकधर्म के समय स्वच्छता का ध्यान रखे और आशा कार्यकर्ता किशोरियों को समय समय पर सनैटरी पैड कैसे इस्तेमाल करते है तथा उन्हें कैसे डिस्पोज करते है  इसके बारे में महिलाओं और किशोरियों को व्यक्तिगत स्वच्छता  के बारे में जागरूक करती रहती है। इस दिवस पर नर्सिंग कॉलेज की छात्राओं की भाषण प्रतियोगिता और नाटक भी करवाया गया। भाषण प्रतियोगिता में प्रथम  स्थान पर सिया ठाकुर , द्वितीय स्थान पर आकांक्षा और तृतीय स्थान पर अदिति कटोच  रही।

भाषण प्रतियोगिता और नाटक में भाग लेने वाली सभी छात्राओं को स्वास्थ्य विभाग की तरफ से ईनाम दिए गए।इस दिवस पर नर्सिंग कॉलेज की प्रधानाचार्या दीपिका ने किशोरियों  को मासिकधर्म स्वच्छता के बारे में अन्य महिलाओं और किशोरियों को जागरूक करने की सलाह दी। इस दिवस पर सीएचओ आकांक्षा , महिला  स्वास्थ्य कार्यकर्ता कुशलता , नर्सिंग कॉलेज के अध्यापक अनुपमा , शिवानी, अंकिता, बन्दना, शैलजा, पूजा, भारती, शिवानी,  आशा कार्यकर्ता रेखा,  कमलेश , पुष्पा, चम्पा, सुमना और नर्सिंग कॉलेज के लगभग 140  बच्चे उपस्थित रहे।

Scroll to Top