UP से आये बाबाओं ने चैलचौक के थोक चिकन विक्रेता को सम्मोहित कर ऐंठे 1,61,000 रुपये



गोहर।

गोहर पुलिस ने नेरचौक से बाबाओं को पकड़कर पूरा पैसा वापिस दिलाया।
कहते हैं सम्मोहन कला से आप किसी को भी सम्मोहित करके कुछ भी करवा सकते हैं। एक ऐसा ही रोचक मामला उपमंडल गोहर के ग्राम पंचायत चैलचौक में सामने आया है। 

चैलचौक में चिकन के थोक विक्रेता पूर्ण चंद की दुकान पर गत दिवस सुबह 11 बजे यु पी नंबर की गाड़ी UP 21BC 3472 रूकती है। जिसमें चार लोग बाबा के भेष में सवार होकर आए थे।

गाड़ी से उतरते ही चिकन विक्रेता पूर्ण चंद को बोलते हैं हमने आपके पास चाय पीनी है। पूर्ण चंद ने  बाबाओं को होटल से चाय पीने के लिए कहा, मगर वह बोलते हमने आपके घर जाकर ही चाय पीनी है व पूर्ण चंद को तिलक लगाकर उसे अपने वश में कर लिया।

पूर्ण चंद ने बाबाओं के आदर सत्कार करते हुए उन्हें अपने घर ले गया।इसके बाद बाबा लोग जो जो बोलते रहे पुर्ण चंद वैसे ही करता रहा। बाबा ने कहा हमने आपके घर जाना है वहां रोटी खानी है पुर्ण चंद अपने घर ले गया खाना खिलाया।

खाना खाने के बाद बाबो ने पूर्ण चंद से कुछ पैसों की मांग की। पुर्ण चंद ने 1100 रुपए जेब से निकाले और बाबा को दे दिए बाबा बोले ये तो बहुत कम है तो पुर्ण चंद ने 11 हजार रुपए दे दिए। उसके बाद कुछ और पैसे की मांग की तो पूर्ण चंद ने 50 हजार रुपये निकाल कर बाबाओं को दे दिए। बाबाओं ने  कहा हमें और पैसे दो नहीं तुम्हारे यँहा समाधि लगा कर बैठ जाएंगे तो पूर्ण चंद ने उन्हें घर से 1 लाख रुपए निकाल कर और दे दिए ।

पूर्ण चंद ने बताया गत वर्ष आपदा के कारण उसकी बेटी का घर क्षतिग्रस्त हो गया था बेटी को मकान बनाने के  लिए बैंक से ₹2 लाख निकाले थे जिसमें से 1,61लाख रुपए तथाकथित बाबाओं ने पुर्ण चंद से ऐंठ लिए।

पुर्ण चंद ने बताया कि बाबाओं के जाने के बाद उसे और उसके परिवार वालों को गहरी नींद आने लगी। शाम के वक्त जब नींद खुली तो देखा कि उन्हें 1,61,000 हजार रुपए का चूना लग गया है।पुर्ण चंद ने तुरंत पुलिस स्टेशन आकर सारी घटना बताई व पुर्ण चंद की दुकान पर लगे सीसीटीवी कैमरे से बाबाओं की गाड़ी का नंबर ट्रेस किया और उन्हें आज नेर चौक में 4 बाबे और उनकी गाड़ी गोहर पुलिस को मिल गई। जिन्हें गोहर पुलिस पकड़ कर गोहर लेकर आई 1

Scroll to Top