सुक्खू की कार्य प्रणाली से हिमाचल में ताश के पत्तों की तरह बिखेर रही कांग्रेस

Photo of author

By newshimachal24.com

कोई बड़ा नेता चुनाव लड़ने के लिए नहीं हो रहा तैयार

प्रतिभा सिंह के बयान ने हमारे स्टैंड पर मोहर लगाई

विपुल गुप्ता, सुजानपुर, न्यूज़ हिमाचल 24

6 असंतुष्ट नेताओं और तीन निर्दलीय विधायकों ने आज संयुक्त बयान जारी करके कहा है कि मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू की कार्य प्रणाली से प्रदेश में कांग्रेस अब ताश के पत्तों की तरह बिखर रही है और रसातल की तरफ जा रही है। कांग्रेस के कर्मठ कार्यकर्ता हताशा और निराशा की स्थिति में हैं और स्थिति यह हो गई है कि जनता और कार्यकर्ताओं का मिजाज भांप कर कद्दावर नेता चुनाव लड़ने से मना कर रहे हैं ।

इन नेताओं राजेंद्र राणा , सुधीर शर्मा, इंद्र दत्त लखनपाल, रवि ठाकुर, देवेंद्र भुट्टो चैतन्य शर्मा, होशियार सिंह , आशीष शर्मा और के. एल. ठाकुर ने दिल्ली से संयुक्त बयान जारी करके कहा है कि 40 विधायकों और तीन निर्दलीयों के समर्थन से प्रदेश में कांग्रेस की मजबूत सरकार का गठन हुआ था लेकिन मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू के तानाशाही रवैये और मित्रों को तरजीह देकर चुने हुए विधायकों को जलील करने की उनकी नीति ने ही वर्तमान हालात पैदा किए हैं। नेताओं ने कहा कि कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष और मंडी की सांसद प्रतिभा सिंह ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की अनदेखी की बात कहकर चुनाव मैदान में उतरने से इनकार कर दिया है और उनके बयान से यह साबित हो जाता है कि प्रदेश में कांग्रेस बिखराव के कगार पर है। इन नेताओं ने कहा कि प्रतिभा सिंह ने यह सच्चाई बयां कर दी है कि संगठन में नाराजगी है और पार्टी के कार्यकर्ता सक्रिय नहीं है।

इन नेताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली से प्रदेश में सरकार बहुमत खो चुकी है । पार्टी के कर्मठ कार्यकर्ताओं की अनदेखी, हमारे चुनाव क्षेत्र से भेदभाव और हमें लगातार जलील करने के उनके रवैये ने हमें यह कदम उठाने के लिए मजबूर किया है। इन नेताओं ने कहा कि मुख्यमंत्री को दूसरों पर दोषारोपण करने की बजाय अपने गिरेबान में झांक कर देखना चाहिए कि वर्तमान स्थिति के लिए सिर्फ और सिर्फ उनका अहंकार और तानाशाही रवैया ही जिम्मेदार है।

इन नेताओं ने कहा कि सच्चाई को दबाया नहीं जा सकता और
उनके मित्रों द्वारा किए गए काले कारनामे भी जल्दी ही सामने आ जाएंगे। इन नेताओं ने तंज करते हुए कहा कि मित्रों को रेवड़ियां बांटकर और प्रदेश का स्वाभिमान दांव पर लगाकर व्यवस्था परिवर्तन नहीं किया जा सकता। इन नेताओं ने कहा कि जिस तरह देश में कांग्रेस पार्टी आज हांफ रही है और देश में भी कांग्रेस के बड़े नेता चुनावी मैदान से भाग रहे हैं, उसी तरह सुक्खू सरकार भी वेंटीलेटर पर है।

Leave a Comment