होली का पर्व पधर में ही मनाएंगे चौहारघाटी वजीर देव पशाकोट

Photo of author

By newshimachal24.com

कुन्नू पहुंचा देव पशाकोट का रथ।


किरण राही (मंडी)।


मंडी शिवरात्रि मेला संपन्न होते ही चौहारघाटी के समस्त देवताओं के रथ वापस पड़ाव में घाटी की ओर प्रस्थान कर रहे हैं। बड़ादेव राजा हुरंग नारायण का रथ हुरंग गांव पहुंच चुका है। शुद्धि हवन के बाद देवता का रथ अपने मंदिर में विराजमान  हो गया है। देव हुरंग नारायण प्रथम अप्रैल को जोगिंद्रनगर में शुरू होने वाले मेला की जलेब की अगुवाई करने रवाना होंगे। चौहारघाटी वजीर देव पशाकोट का रथ बुधवार को कुन्नू पहुंच गया।

देवता का रथ बड़ादेव हुरंग नारायण के पुरोहित देव राम पाल ब्रम्हा के मंदिर शिंगारी पहुंचे। दोनों देवताओं का यहां मंदिर में भव्य देव समागम हुआ।  देव पशाकोट मंडी शिवरात्रि से वापिस लौटती बार  देवलुओं के साथ पैदल पधर पहुंच गए हैं।  होली का पर्व देवता इस बार पधर क्षेत्र के गावों में ही मनाएंगे।

देवता के पुजारी प्रकाश चंद ठाकुर , गुर राकेश ठाकुर, बुद्धि सिंह , ओम प्रकाश, अछर सिंह ठाकुर, भंडारी बलि राम ने बताया कि देव पशाकोट होली का पर्व पधर में ही मनाएंगे। देवता का रथ 29फरवरी को भंडार से शिवरात्रि मेला को रवाना हुआ। अब जोगिंदर नगर मेला के संपन्न होने के उपरांत 12अप्रैल को अपने भंडार मठीबजगान पहुंचेगा। पधर क्षेत्र के गांव में पहुंचने पर लोग देव पशाकोट का फूल मालाओं से साथ भव्य स्वागत कर रहे हैं। देवता के स्वागत मंडयाली धामें परोसी जा रही है।

Leave a Comment