शहीदे आजम भगत सिंह का मनाया शहीदी दिवस

Photo of author

By newshimachal24.com

भारत की जनवादी नौजवान सभा, जनवादी महिला समिति, व सेब उत्पादक संघ ने संयुक्त रूप से बाली चौकी के विभिन्न क्षेत्र पंजाई, थाची बूंग जहलगाड में संयुक्त रूप से शहीदे आजम भगत सिंह का शहीदी दिवस मनाया।


किरण राही /मंडी।

शहीद ए आजम भगत सिंह ने इस देश में देश की आजादी के लिए मात्र 23 वर्ष की उम्र में कुर्बानी दी। भगत सिंह जैसे लाखों युवाओं ने कुर्बानियां दी थी। उनकी कुरबानी का तात्पर्य था कि देश में सबको शिक्षा मिलेगी, स्वास्थ्य मिलेगा, रोजगार मिलेगा। परंतु आज सता लगातार भगत सिंह विरोधी विचारों को अमल में ला रही है जिसकी वजह से देश में लगातार भुखमरी बेरोजगारी बढ़ रही है जबकि यह शहीदे आजम भगत सिंह की शहादत का ही परिणाम है कि आज देश में लोकतंत्र है, खूबसूरत संविधान है, परंतु जब से मोदी सरकार सत्ता में आई है लगातार संविधान पर हमले कर रही है संविधानिक संस्थाओं को तहस  नहस कर रही है और लोकतंत्र की हत्या कर रही है।

ऐसे समय में भगत सिंह के विचारों की सार्थकता कहीं और ज्यादा बढ़ती है। देश में यदि सही मायने में भगत सिंह की सोच को जिंदा रखना है तो गांव-गांव में हर महिला, युवा, किसान व बागवान को अपने हकों को लेकर लड़ना होगा। भगत सिंह की सोच को देश में जिंदा रहने के लिए और तेज संघर्ष करने होंगे कार्यक्रम में उपस्थित युवाओं निरंकुश सत्ता के खिलाफ संघर्ष करने की शपथ ली। पंजाई में नौजवान सभा राज्य सचिव महेंद्र राणा ने, थाची में महिला समिति जिला कमेटी सदस्य शकुंतला ने, बूंगजहलगाड में देवेंद्र कुमार ने युवाओं को भगत सिंह के सपनों को साकार करने की शपथ दिलाई।

Leave a Comment