बंबर ठाकुर बोले, ये मेरी अंतिम रैली, हत्या हुई तो DGP, जेपी नड्डा व भाजपा विधायक होंगे जिम्मेदार



अंशुल शर्मा।ब्यूरो।बिलासपुर

गोलीकांड को लेकर पूर्व कांग्रेस विधायक बंबर ठाकुर ने कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा के विधायक त्रिलोक जमवाल के खिलाफ शनिवार को रैली निकाली। बंबर ने जमवाल पर चिट्टा माफिया को संरक्षण देने व उन पर जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया। बंबर ठाकुर ने डीजीपी व भाजपा पर हत्या की साजिश रचने के आरोप लगाए।


उन्होंने कहा कि डीजीपी उनकी 20 साल पुरानी खुन्नस निकाल रहे हैं। कहा कि इस पूरे कांड के षड्यंत्रकारी डीजीपी अतुल वर्मा व त्रिलोक जमवाल हैं। बयान देते हुए बंबर ठाकुर भावुक हो गए। बता दें डीजीपी अतुल वर्मा 2001 में बिलासपुर में एसपी के पद पर तैनात रहे।

उन्होंने कहा कि यदि मेरी हत्या होती है तो डीजीपी, केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा सहित भाजपा विधायक त्रिलोक जमवाल इसके जिम्मेदार होंगे। शायद यह मेरी अंतिम रैली है।
बिलासपुर जिला कोर्ट के बाहर हुए गोलीकांड के विरोध में शनिवार को मुख्य बाजार में भाजपा की ओर से भी प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन में सांसद अनुराग ठाकुर, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल व नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर भी मौजूद रहे।

पुलिस जांच के अनुसार पूर्व विधायक बंबर ठाकुर का बड़ा बेटा पुरंजन ठाकुर बिलासपुर जिला कोर्ट के बाहर हुए गोलीकांड का मास्टरमाइंड निकला है। बिलासपुर के पुलिस अधीक्षक विवेक चहल ने प्रेस वार्ता कर इसका खुलासा किया। उन्होंने बताया कि गोलीकांड के मुख्य आरोपी शूटर सन्नी गिल ने पुलिस पूछताछ में पुरंजन का नाम उगलते हुए कबूला है कि उसने सारी साजिश रची थी।


पुलिस ने पुरंजन को गिरफ्तार करने के लिए कई टीमें बनाई हैं। उसकी तलाश की जा रही है। हत्या के प्रयास के साथ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। इसी के तहत भाजपा ने आज रैली निकाली।

-23 फरवरी को हुआ था बंबर ठाकुर पर जानलेवा हमला

23 फरवरी 2024 को बंबर ठाकुर पर मंडी-मांडवाँ में चंडीगढ़-मनाली एनएच पर कुछ व्यक्तियों ने जानलेवा किया था। हमले में उन्हें नाक और मुंह पर चोटें आई थी। इसके बाद वो क्षेत्रीय अस्पताल में उपचाराधीन रहे। सात हमलावरों को गिरफ्तार किया गया था।  वारदात में उनके दो बेटों को भी चोटें आई थी। पूर्व विधायक ने हमले के पीछे भाजपा विधायक की साजिश का आरोप लगाया था।

Scroll to Top