क्या प्रधानमंत्री मोदी सच में भ्रष्टाचार के खिलाफ हैंकर्नल मनीष धीमान प्रवक्ता आम आदमी पार्टी ने मंहगाई व भ्रष्टाचार को लेकर केंद्र व राज्य सरकार को घेरा






रेनू डोगरा/न्यूज हिमाचल 24


मंगलवार को कर्नल मनीष प्रदेश प्रवक्ता आम आदमी पार्टी ने देहरा में प्रेस वार्ता के दौरान भाजपा सरकार को महंगाई भ्रष्टाचार आदि के मुद्दों पर जमकर घेरा कर्नल मनीष ने बताया कि केंद्र की सरकार टैक्स के पैसे को दूसरे राज्यों की सरकारों को गिराने के लिए और उनके विधायकों की खरीद-फरोख्त में इस्तेमाल कर रही है।

उन्होंने बताया कि 2014 के बाद केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, आसाम, मध्य प्रदेश, बिहार, अरुणाचल, मणिपुर, मेघालय आदि हर राज्य में पहले वहां की सरकार के विधायकों को सीबीआई और ईडी का डर दिखाया और उसके बाद उनको खरीदा और इसी पैटर्न पर दिल्ली में भी आम आदमी पार्टी के विधायकों को खरीदने के लिए ऑफर भी दिए गए हैं। पिछले 8 साल में जितनी सरकारें बदली हैं उनमें करीब 277 विधायकों को भाजपा ने खरीदा है। और इस पर भाजपा ने कम से कम 55 सौ करोड रुपए खर्च किया है, दिल्ली के 40 विधायकों को 20 करोड़ पर विधायक ऑफर दिया गया है जो 800 करोड की राशि बनती है अगर कुल जोड़ा जाए तो 6300 करोड़ रुपए के करीब का पैसा भाजपा सरकार ने सिर्फ और सिर्फ सरकार गिराने और विधायक खरीदने के लिए इस्तेमाल किया है। आज यह प्रश्न वाजिब है कि इतना सारा पैसा सरकार के पास कहां से आया।
मनीष ने महंगाई के मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए बताया कि 2014 में डीजल का भाव जो ₹54 था आज ₹90 है पेट्रोल 100 से 110 सीएनजी 35 से ₹75, रसोई गैस सिलेंडर 410 से 1140 तथा खाने का तेल ₹70 से ₹200 तक पहुंच गया है । एक महंगाई इतनी बढ़ चुकी है और दूसरा जीएसटी के रेट बार-बार बढ़ाकर जो भी पैसा इकट्ठा किया जा रहा है, वह कहां जाता है । आज देशवासियों की मेहनत की कमाई का इस्तेमाल सरकार दो चीजों में कर रही है एक अपने अरबपति दोस्तों का कर्जा माफ करने में और दूसरा किसी भी राज्य विपक्षी दल की सरकार है उनके विधायकों के खरीद-फरोख्त और सरकार गिराने में। जब भी केंद्र सरकार किसी राज्य में सरकार गिराने की योजना बनाती है तो उससे पहले किसी ना किसी वस्तु पर जीएसटी बढ़ा देती है , महाराष्ट्र की सरकार गिराने के समय दूध ,दही,छाछ, चावल, गेहूं पर टैक्स बढ़ा दिया गया जो कि आजादी के बाद पहली बार हुआ है, पेट्रोल डीजल के भाव तो सुबह कुछ और शाम को कुछ और होते हैं, इस तरह से यह जो पैसा इकट्ठा होता है सरकार विधायकों को खरीदने में इस्तेमाल कर रही है जो आम आदमी की गाढ़ी कमाई के साथ धोखा है।
स्वतंत्रता दिवस के मौके पर माननीय श्री प्रधानमंत्री जी ने लाल किले से बोलते हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिए देशवासियों का सहयोग मांगा। आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक श्री अरविंद केजरीवाल जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को पांच ऐसे बिंदु बताए हैं कि अगर वह सही में भ्रष्टाचार से लड़ना चाहते हैं तो इन बिंदुओं में पर एक्शन ले ,उन्होंने बताया कि गुजरात और हिमाचल प्रदेश में पेपर लीक हुए हैं उन से युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ हुआ है और इस कृत्य में जो लोग भी संलिप्त थे उन पर कोई भी कार्रवाई नहीं की गई है । अगर मोदी जी सच में भ्रष्टाचार को खत्म करना चाहते हैं तो वह इस पर सीबीआई की जांच बिठाएं। गुजरात के एक बड़े उद्योगपति के निजी पोर्ट पर अब तक करीब 22 हजार करोड की ड्रग्स पकड़ी गई है अगर प्रधानमंत्री जी सही में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ना चाहते हैं तो उन पर सीबीआई /ईडी की रेड करवाएं। गुजरात में जहरीली शराब पीने से 50 के करीब लोग मर चुके हैं और उसमें सरेआम कहा जा रहा है कि वहां पर भाजपा के लोग अवैध शराब के धंधे में संलिप्त हैं, अगर मोदी जी सच में भ्रष्टाचार खत्म करना चाहते हैं गुजरात और हिमाचल के इलेक्शन से पहले सीबीआई की जांच करवाएं ।
माननीय प्रधानमंत्री ने बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का थोड़े दिन पहले उद्घाटन किया और उनके उद्घाटन के ठीक 5 दिन बाद वह राता धस्स गया ठेकेदार पर कार्रवाई करने के बजाय उसे और ज्यादा ठेके दिए गए ,आम आदमी पार्टी के संयोजक श्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री मोदी को यह चुनौती दी है कि अगर हिम्मत है तो उसके खिलाफ जांच करवाएं तभी तो सच्चे दिल से भ्रष्टाचार की लड़ाई होगी।अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा है कि अब तक केंद्र सरकार ने बड़े-बड़े उद्योगपतियों के 10.72 लाख करोड के कर्जे माफ किये हैं, और उसके एवज में यह बिजनेसमैन भाजपा को चंदा देते हैं। अरविंद केजरीवाल जी ने यह भी प्रश्न उठाया है कि क्या आम आदमी की गाढ़ी कमाई से इकट्ठे गए किए गए पैसे से कुछ चंद उद्योगपतियों के कर्जे माफ कर देना और उसके बदले में उनसे अपनी पार्टी के लिए चंदा लेना, क्या यह भ्रष्टाचार नहीं है? अगर मोदी जी सच में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ना चाहते हैं तो गुजरात और हिमाचल के इलेक्शन से पहले इस सब पर भी सीबीआई जांच करवाएं।

Leave a Comment

error: Alert: Content is protected !!